मुख्यमंत्री राजे ने भामाशाह वॉलेट और छः जिलों के अभय कमाण्ड सेन्टर का किया उद्घाटन

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने गुरुवार को प्रदेश की जनता को तीन बड़ी सौगातें दी। मुख्यमंत्री राजे ने भामाशाह टेक्नो हब के साथ ही 6 जिलों में अभय कमाण्ड सेन्टर तथा राजस्थान ऑनलाइन पेमेंट एप्लीकेशन ‘भामाशाह वॉलेट’ का उद्घाटन किया। राजे ने राजधानी जयपुर के झालाना संस्थानिक क्षेत्र में 72 करोड़ रुपए की लागत से बनकर तैयार हुए भामाशाह टेक्नो हब के उद्घाटन कार्यक्रम में झुंझुनूं, दौसा, श्रीगंगानगर, बाड़मेर, भीलवाड़ा और करौली में स्थापित अभय कमाण्ड सेन्टर तथा राजस्थान ऑनलाइन पेमेंट एप्लीकेशन भामाशाह वॉलेट का भी उद्घाटन किया। इसके बाद मुख्यमंत्री ने भामाशाह टेक्नो हब की कार्यप्रणाली का अवलोकन किया।

news of rajasthan

Image: 6 जिलों में अभय कमाण्ड सेन्टर तथा भामाशाह वॉलेट का उद्घाटन के दौरान सीएम राजे.

700 उद्यमी एक साथ बैठकर अपने व्यापार को आगे बढ़ा सकेंगे

मुख्यमंत्री राजे ने भामाशाह टेक्नो हब के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में विभिन्न सेवाओं में डिजिटलाइजेशन को बढ़ावा देकर ऐसा वातावरण तैयार किया गया है, जिसमें नए उद्यमियों को आगे बढ़ने और प्रतिभाओं को प्रोत्साहन मिलने के बेहतरीन अवसर उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि हम युवाओं को तकनीक के उभरते क्षेत्रों में सशक्त बनाकर नए राजस्थान का निर्माण कर रहे हैं। राजे ने कहा कि यह देश का सबसे बड़ा एवं आधुनिक टेक्नोलॉजी से सुसज्जित सेन्टर है, जहां लगभग 700 उद्यमी एक साथ बैठकर अपने व्यापार को आगे बढ़ाने का काम कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि यहां उद्यमियों को स्टार्टअप को नई संभावनाओं की राह दिखाई जाएगी और तकनीकी सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी।

news of rajasthan

Image: भामाशाह वॉलेट का उद्घाटन करती हुई मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे.

भामाशाह टेक्नो हब के निर्माण से प्रशासनिक कार्यप्रणाली को मिलेगी नई गति

मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि राज्य सरकार ने एक वर्ष पहले युवाओं और उद्यमियों को प्रदेश में सेवाओं के डिजिटल समाधान सहित विभिन्न उद्यमों की स्थापना के लिए आई-स्टार्ट के रूप में एक सुविधा प्रदान की थी, जहां अब तक एक हजार से अधिक स्टार्टअप पंजीकृत हो चुके हैं। हमने स्टार्टअप को सुविधाएं देने के लिए सिस्को नेटवर्किंग अकेडमी, आईबीएम आईएक्स अकेडमी, एचपी अकेडमी, इन्फोसिस कैम्पस कनेक्ट और ओरेकल वर्कफोर्स जैसी कई ग्लोबल कम्पनियों के साथ पार्टनरशिप की है। मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि आने वाला कल टेक्नोलॉजी का होगा। इसी को ध्यान में रखते हुए हमने सरकार के सभी विभागों में डिजिटल प्रणाली को विकसित करने का काम किया है। इससे प्रशासन में पारदर्शिता तो आई ही है, लोगों को सरकार से प्राप्त होने वाले लाभ बिना किसी लीकेज के मिल रहे हैं। भामाशाह टेक्नो हब के निर्माण से प्रशासनिक कार्यप्रणाली को नई गति मिलेगी।

Read More: राजस्थान आईएलडी राजकीय क्षेत्र में कौशल शिक्षा के लिए देश में पहला विश्वविद्यालय

वसुंधरा राजे डाइनेमिक और विजनरी लीडर: मोहनदास पई

मुख्यमंत्री सलाहकार परिषद के सदस्य और मणिपाल ग्लोबल एजुकेशन के चेयरमैन मोहनदास पई ने टेक्नोलॉजी क्षेत्र मे राजस्थान के नवाचारों को लेकर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की जमकर प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री राजे डाइनेमिक और विजनरी लीडर हैं। इसी का परिणाम है कि राजस्थान डिजिटल क्षेत्र में देश-दुनिया में लगातार अपनी पहचान बना रहा है। मुख्य सचिव डी.बी. गुप्ता ने ई-गवर्नेंस, डिजिटल और स्टार्टअप क्षेत्र में राज्य सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों के बारे में बताया। इस अवसर पर महापौर अशोक लाहोटी, विधायक मोहनलाल गुप्ता, आईटी विभाग के प्रमुख शासन सचिव अखिल अरोरा के अलावा बड़ी संख्या में स्टार्टअप और टेक्नोलॉजी क्षेत्र से जुड़े हुए लोग मौजूद थे।

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.