मुख्यमंत्री राजे के प्रयासों से प्रदेश के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में आमजन को मिली राहत, केंद्र सरकार ने की अनुदान की घोषणा

राजस्थान के मारवाड़ क्षेत्र में पिछले कई दिनों से लगातार, तेज बारिश होने की वजह से बाढ़ के हालात हो गए थे। पिछले कई दिनों से देश के अनेकों राज्यों की तरह राजस्थान में भी अतिवृष्टि का प्रकोप छाया हुआ है। हालांकि राजस्थान में अब स्थिति नियंत्रण के दायरे में आ गई है। राजस्थान सरकार की मुखिया वसुंधरा राजे ने इस आपदा की स्थिति में खुद आगे आकर प्रभावित क्षेत्रों का मौका-मुआयना किया। मुख्यमंत्री राजे ने बाढ़ से प्रभावित हुए मारवाड़ क्षेत्र में सभी सम्बंधित प्रभारी मंत्रियों और अधिकारियों को स्थिति को तुरंत संभालने के निर्देश दिए। इतने दिनों से मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कई बार प्रदेश के बाढ़ प्रभावित इन इलाकों का सर्वेक्षण किया था। आपदा की जानकारी होते ही मुख्यमंत्री राजे अपने मंत्रिमंडल के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रभावित इलाकों में स्थिति का जानकारी ले रही थी। जनहित में तत्पर अपने इसी स्वभाव और कार्यप्रणाली को आगे बढ़ाते हुए आज वसुंधरा राजे ने राजस्थान के सर्वाधिक बाद प्रभावित जालोर ज़िले का भी दौरा किया। मुख्यमंत्री ने वहां जाकर मौके पर हालातों का जायज़ा लिया।

प्रधानमंत्री की तरफ से जारी हुआ राहत अनुदान:

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने अभी इस रविवार को प्रदेश के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में हालात से निपटने के लिए किए जा रहे सभी उपायों का फीडबैक लिया था। उन्होंने आपदा प्रबन्धन विभाग के अधिकारियों को बाढ़ से हुए नुकसान का सर्वे करवाकर केन्द्र सरकार को जल्द से जल्द रिपोर्ट भिजवाने के निर्देश दिए थे। इसके बाद राजस्थान में तबाही लेकर आई बाढ़ से आमजन को राहत पहुंचाने के लिए प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने केंद्र सरकार की ओर से गंभीर घायलों को 50 हज़ार रूपए की राहत राशि पहुंचाने का एलान किया। यह अनुदान राशि देश के पूर्वोत्तर राज्य असम में आई बाढ़ से प्रभावित लोगों के लिए भी जारी की गई है। प्रधानमन्त्री की ओर से राजस्थान और असम में बाढ़ के कारण मरने वाले व्यक्तियों के परिजनों को भी 2 – 2 लाख रूपए की सहायता राशि की घोषणा की गई है।

मुख्यमंत्री राजे ने सम्बंधित अधिकारियों और मंत्रियों को किया पाबन्द:

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने आज जालोर में मौजूदा स्थिति का ज़मीनी दौरा किया। मुख्यमंत्री राजे ने ज़िले और इसके आसपास के बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के हालातों की जानकारी लेकर इन क्षेत्रों में चल रहे बचाव कार्यों की समीक्षा की। यहाँ उल्लेखनीय है कि प्रदेश सरकार अपने अथक प्रयासों से इन क्षेत्रों में राहत के इंतज़ाम करने में लगी हुई है। क्षेत्र में लोगों को पानी के कहर से बचाने के लिए आपदा प्रबंधन की टीम, सेना और बचाव दल की तैनाती की गई है। इसके अलावा सरकार ने चिकित्सकों की टीम भी प्रभावित क्षेत्रों में तैनात कर रखी है। घायलों को तुरंत उपचार दिया जा रहा है। सरकार ने हेलीकाप्टर से फंसे हुए लोगों को निकालने की भी पुख्ता व्यवस्था कर रखी है।

आज जालोर दौरे पर गई हुई मुख्यमंत्री राजे ने ज़िले की स्थिति का मुआयना कर सम्बंधित प्रभारी अधिकारियों और मंत्रियों की मीटिंग ली। इस मीटिंग में मुख्यमंत्री राजे ने स्पष्ट निर्देश दिए कि जैसे भी हो स्थिति में अब जल्द ही सुधार लाना है। मुख्यमंत्री राजे ने इस अवसर पर न सभी दानवीर भामाशाहों को धन्यवाद दिया जिन्होंने इस आपदा की घडी में पीड़ितों को राहत पहुँचाने के लिए अपनी तरफ से अनुदान दिया है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.