news of rajasthan
File-Image: प्रदेश में सभी जिला मुख्यालयों पर भाजपा कार्यकर्ता बड़ी संख्या में गिरफ्तारियां दे रहे हैं.

कांग्रेस द्वारा विधानसभा चुनावी घोषणा-पत्र में किए वादे पूरे नहीं करने को लेकर भाजपा ‘जेल भरो आंदोलन’ कर रही है। प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी का एक दिवसीय जेल भरो आंदोलन आज शुक्रवार को शुरू हुआ। इसके तहत पार्टी के कार्यकर्ता जिला मुख्यालय पर जाकर अपनी गिरफ्तारियां दे रहे हैं। राजस्थान की गहलोत सरकार को घेरने के लिए प्रदेशभर से एक लाख से भी ज्यादा भाजपा कार्यकर्ता गिरफ्तारियां देंगे। हर विधानसभा क्षेत्र से पांच सौ से अधिक कार्यकर्ता गिरफ्तारी देंगे। विधानसभा में विपक्ष की भूमिका निभा रही भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस द्वारा अपने घोषणा-पत्र में किए तीन प्रमुख बिंदुओं को लेकर यह आंदोलन शुरू किया है।  राजस्थान के सभी जिलों में होने वाले इस आंदोलन को लेकर भाजपा मुख्यालय से पहले ही निर्देश जारी किए जा चुके थे।

कांग्रेस जनता से किए वादे प्राथमिकता के साथ पूरे करे, इसलिए भाजपा का आंदोलन

कांग्रेस द्वारा जनता से किए गए वादों को जल्द ही पूरे करवाने के लिए प्रदेश भाजपा यह आंदोलन कर रही है। राजस्थान में कांग्रेस की अशोक गहलोत सरकार बनने के बाद भारतीय जनता पार्टी का सरकार के खिलाफ यह पहला बड़ा आंदोलन है। गहलोत सरकार बनने के करीब 2 माह बाद भी प्रमुख वादों को पूरा न करने पर विपक्ष ने जेल भरो आंदोलन जैसा कदम उठाया है। इससे काफी हद तक गहलोत सरकार पर दवाब बनेगा। भाजपा के इस आंदोलन के बाद कांग्रेस सरकार अब जल्द ही इन वादों को अमलीजामा पहनाना शुरू कर सकती है। आंदोलन के तहत भाजपा ने किसानों की संपूर्ण कर्ज माफी, युवाओं के लिए बेरोजगारी भत्ता और गरीब सवर्णों को दस फीसदी आरक्षण देने की मांग की है। इस आंदोलन की रूपरेखा विपक्ष ने विधानसभा सत्र के दौरान ही तैयार कर ली थी। भाजपा ने सरकार को चेताया भी था।

Read More: किसानों के लिए खुशख़बरी: आरबीआई ने गारंटी फ्री लोन की सीमा बढ़ाकर 1.60 लाख रुपए की

किसानों से छलावा, कांग्रेस सरकार केवल खानापूर्ति कर रही है

गत वसुंधरा राजे सरकार में मंत्री रहे एवं भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अरुण चतुर्वेदी ने वर्तमान गहलोत सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह किसानों के कर्ज माफी के मामले को लोकसभा चुनावों तक ले जाना चाहती है। यह प्रदेश के किसानों के साथ बड़ा छलावा है। कांग्रेस को किसानों की पूर्ण कर्ज़माफ़ी करनी चाहिए। 10 दिन का वादा करने वाली कांग्रेस करीब दो माह बाद भी गरीब किसानों का कर्ज़माफ़ नहीं कर सकी है। 58 लाख किसानों का एक लाख करोड़ का कर्जा माफ होना था, लेकिन कांग्रेस सरकार केवल खानापूर्ति कर रही है। राजधानी जयपुर में संगठन पदाधिकारी और कार्यकर्ता सुबह 11 बजे पार्टी मुख्यालय में एकत्रित हुए। यहां पर वरिष्ठ नेताओं ने उद्बोधन दिया इसके बाद सिविल लाइन फाटक पर जाकर भाजपा नेताओं ने गिरफ्तारियां दी। दूसरी तरफ भाजपा के इस आंदोलन को शुरू होते देख कांग्रेस ने जल्दबाजी में गुरुवार से किसानों को कर्जमाफी प्रमाण-पत्र देना शुरू कर दिया है।

 

LEAVE A REPLY