राजस्थान सरकार ने शुरू की वरिष्ठ खिलाड़ियों के लिए मासिक पेंशन योजना

news of rajasthan

Demo pic

राज्य सरकार ने बुजुर्ग विशिष्ठ व अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ियों के लिए मासिक पेंशन भत्ता योजना की पेशकश की है। इस योजना के तहत 60 वर्ष से अधिक आयु के विशिष्ठ खिलाड़ी और अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ियों को मासिक पेंशन भत्ता दिया जाएगा। इसके लिए जिला स्तर पर सभी जिला खेल अधिकारियों से आवेदन मांगे हैं। इस योजना के तहत 6 हजार से 10 हजार रूपए तक का भत्ता दिया जाएगा। योजना में आॅलंपिक खेल, विश्वकप, एशियन-कॉमनवेल्थ गेम्स, अर्जुन, महाराणा प्रताप, गुरू द्रोणाचार्य व गुरू विशिष्ठ पुरस्कार विजेता सहित कई उत्कृष्ठ खिलाड़ियों को पेंशन योजना के तहत गुजारा भत्ता दिया जाएगा। सरकार की इस योजना से प्रदेश के सैंकड़ों खिलाड़ियों को लाभ मिलेगा।

राज्य सरकार ने 60 वर्ष से अधिक आयु के विशिष्ठ श्रेणी और अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ियों के लिए मासिक पेंशन भत्ता शुरू किया है। इसके लिए खिलाड़ी कार्यालय से संपर्क कर आवेदन कर सकते हैं। – उदयभान सिंह रावत, जिला खेल अधिकारी, सीकर

इस योजना को 5 केटेगिरी में बांटा गया है। यह निम्न प्रकार से है…

ए केटेगिरी

  • ओलंपिक पदक विजेता – 10 हजार
  • ओलंपिक प्रतिभागी – 9 हजार
  • वल्र्डकप विजेता – 8 हजार
  • वल्डकप प्रतिभागी – 7 हजार
  • वल्ड चैंपियनशिप – 7 हजार
  • वल्ड चैंपियनशिप प्रतिभागी – 7 हजार

बी केटेगिरी

  • एशियन गेम्स विजेता – 6 हजार
  • एशियन चैंपियनशिप पदक विजेता – 6 हजार
  • कॉमनवेल्थ गेम्स पदक विजेता – 6 हजार
  • कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप पद विजेता – 6 हजार

सी केटेगिरी

  • अर्जुन पुरस्कार विजेता – 7 हजार
  • महाराणा प्रताप पुरस्कार विजेता – 6 हजार
  • गुरू द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता – 7 हजार
  • गुरू विशिष्ठ पुरस्कार विजेता – 6 हजार

डी केटेगिरी

  • डीफ, डम्फ, ब्लाइंड एवं विमंदित अंतर्राष्ट्रीय खेल पुरस्कार – 6 हजार

ई केटेगिरी

  • ग्रेड स्लेम पदक विजेता – 6 हजार
  • आॅल इंग्लैंड बैडमिंटन पदक विजेता – 6 हजार
  • थॉमस उबेर कप पदक विजेता – 6 हजार
  • साउथ एशियन कप पदक विजेता – 6 हजार
  • पैरा खिलाड़ियों को पेंशन मुख्य प्रतियोगिता के समकक्ष खिलाड़ी के अनुसार मिलेगी।

Read more: सरदार राजकीय संग्रहालय एक वर्ल्ड क्लास म्यूजियम, डिस्प्ले आधुनिक-मुख्यमंत्री राजे

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.