भामाशाह टेक्नो हब दिखाएगी प्रदेश के नए उद्यमियों को राह: राजे

जयपुर के झालाना सांस्थानिक क्षेत्र में 72 करोड़ रुपए की लागत से बने भामाशाह टेक्नो हब का मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने किया उदघाटन…

news of rajasthan

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने आज सुबह भामाशाह टेक्नो हब का उदघाटन किया। जयपुर के झालाना सांस्थानिक क्षेत्र में स्थित यह देश का सबसे बड़ा स्टार्ट-हब है जिसके लिए सरकार 500 करोड़ रुपए की फंडिंग करेगी। महिला स्टार्ट-अप्स के लिए 100 करोड़ और ग्रीन स्टार्ट-अप्स के लिए 50 करोड़ रुपए का फंड रखा गया है। उदघाटन के बाद मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि भामाशाह टेक्नो हब प्रदेश के उभरते उद्यमियों को नई राह दिखाएगा। इस मौके पर मुख्य सचिव डीबी गुप्ता भी मौजूद रहे।

भामाशाह टेक्नो हब एक ऐसा मंच है जो राजस्थान के उद्यमियों को मुफ्त में सभी सुविधाएं प्रदान करेगा। सरकार का दावा है कि यह देश का पहला ऐसा सेंटर होगा जहां इतने उद्यमी एक साथ बैठकर अपने व्यवसाय को बढ़ाने का काम करेंगे। हर उद्यमियों के पूरा सपोर्ट दिया जाएगा। फंडिंग के लिए भामाशाह टेक्नो फंड से 500 करोड़ की वित्तीय सहायता भी दी जाएगी।

news of rajasthan

यह भारत का सबसे बड़ा स्टार्ट-अप हब है जहां आन्त्रप्रेन्योर्स के लिए एक लाख स्क्वायर फीट का ​एरिया है। 700 आन्त्रप्रेन्योर्स के बैठने की व्यवस्था भी है। इस बिल्डिंग में 700 उद्यमियों के लिए स्पेस दिया गया है जो न केवल अपनी कारोबारी नीतियों की दशा और दिशा तय कर सकेंगे, साथ ही उनके व्यवसाय को चलाने के लिए फंड भी मिलेगा। यहां टिंकरिंग लैब्स और अनोखा डिजिटल म्यूजियम भी मौजूद है। यहां स्टार्ट-अप, इन्क्यूबेटर्स, वीसी व स्टार्ट-अप इंवेस्टर्स के लिए वन-टॉप सॉल्यूशन प्रदान किया जाएगा। बिल्डिंग अंदर से भी काफी खूबसूरत डिजाइन की हुई है ताकि पूरी तरह हाईटेक आॅफिस जैसा माहौल तैयार हो सके। टेक्नो हब में सभी हाइटेक सुविधाओं के साथ आराम करने के लिए बेहतरीन रेस्टरूम भी होंगे। बेहतरीन इंफ्रास्ट्रक्चर और फैसिलिटीज़ के अलावा उन्हें यहां अपने उद्यम के के लिए ज़रूरी टेक्निकल सपोर्ट जैसे कि सॉफ्टवेयर, हार्डवेयर और अन्य ज़रूरी उपकरण दिए जाएंगे।

इस 8 मंजिला टेक्नो हब की लागत 72 करोड़ रुपए आई है। यहां यूनीक आई प्रोजेक्ट्स् को राजस्थान सरकार का पूरा सहयोग मिलेगा। जैसा कि सरकारी योजनाओं में जिक्र है, ‘अगर आपके पास स्टार्ट-अप का कोई भी अच्छा आइडिया है तो उसे आजमाएं। आपके स्टार्ट-अप की रैंकिंग, मेन्टरिंग, फंडिंग और यहां तक की आॅफिस की जगह भी सरकार देगी। चाहे आपका बिजनेस आइडिया आईटी से जुड़ा हो या अन्य किसी क्षेत्र से, भामाशाह टेक्नो हब सब के लिए है।’


टेक्नो हब के लिए चुने गए व्यवसायियों को एक साल का समय दिया जाएगा। नए व्यवसायियों की परफॉरमेंस का इवैल्यूएशन हर चार महीने में होगा। यदि नए उद्यमी अपनी परफॉरमेंस बेहतर रख पाते हैं तो उन्हें सपोर्ट मिलता रहेगा, वर्ना उन्हें बाहर कर दिया जाएगा। नए उद्यमियों का चुनाव स्कोर के आधार पर किया जाएगा। उम्मीदवार यहां आइस्टार्ट के जरिये ही आवेदन कर सकेंगे। इस प्रोग्राम के तहत 1 हजार नए उद्यमियों चुने जाएंगे, जिसके लिए अभी तक 200 आवेदन आ चुके हैं।

Read more: प्रदेश में खुलेंगी 3 ड्रग टेस्टिंग लैब, 4 लैब वाला पहला राज्य बनेगा राजस्थान

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.