news of rajasthan

news of rajasthan

एक समय था जब राजस्थान की आम जनता को अपनी गंभीर बिमारियों के इलाज़ के लिए बड़े अस्पतालों के चक्कर तो काटने ही पड़ते थे, साथ में एक मोटी रक़म भी इलाज़ में ख़र्च हो जाती थी। इससे बीमार व्यक्ति भले ही स्वस्थ हो, मगर आर्थिक रूप से जरूर बीमार हो जाता था। ये समस्या बहुत समय तक राजस्थान को बीमारू प्रदेशों की श्रेणी से बाहर ही नही निकलने दे रही थी। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने प्रदेश को स्वस्थ बनाने का जिम्मा अपने कंधों पर उठाया। उन्होंने 13 दिसंबर, 2015 को भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना की शुरुआत की। तुरंत लोगों को लाभ मिला और कुछ ही समय में राजस्थान बीमारू प्रदेशों के श्रणी से बाहर आ गया।

क्या है भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना : –

राजस्थान के ऐसे परिवार जो आर्थिक रूप से कमज़ोर हैं, और अपना इलाज़ करने में असमर्थ हैं। उनको बेहतर स्वास्थ्य सेवायें देने के लिए भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना चलाई गई। जिसके अंतर्गत राज्य का कोई भी भामाशाह कार्ड धारी परिवार का व्यक्ति अपना इलाज़ करवा सकता है, और उसे किसी भी प्रकार से कोई राशि ख़र्च नहीं करनी पड़ती।

भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना की शुरुआत : –

भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना का आरम्भ 13 दिसंबर 2015 से किया गया। योजना के अंतर्गत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना एवं राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना में शामिल परिवार के सभी व्यक्तियों को, राज्य के 600 सरकारी एवं 700 निजी अस्पतालों में मुफ़्त कैशलेस स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाई जाती हैं।

भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के लाभ : –

भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के कारण प्रदेश की स्वास्थ्य वृद्धि दर में इजाफ़ा हुआ। योजना के अंतर्गत प्रत्येक पात्र परिवार को प्रतिवर्ष सामान्य बीमारियों के लिए 30 हज़ार तथा गम्भीर बीमारियों के लिए 3 लाख़ रुपये का स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध करवाया जा रहा है। जिसमे अस्पताल में इलाज़ के दौरान हुए ख़र्च के अलावा भर्ती के 7 दिन पहले से 15 दिन बाद तक का ख़र्च शामिल किया जाता है। भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना में 1500 बीमारियों को शामिल किया गया जिनमे 663 अति गंभीर बीमारियां भी हैं। योजना में सभी जांच, इलाज़, डॉक्टर की फीस, ऑपरेशन आदि सब शामिल हैं। इनके अतिरिक्त नेफ्रोलॉजी, गेस्ट्रोलॉजी, न्यूरोलॉजी तथा साइकियाट्री सहित 300 से अधिक स्पेशियलिटी उपचार के नए पैकेज भी शीध्र ही जोड़े जाएंगे।

योजना की सफ़लता : –

भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना सम्पूर्ण राजस्थान में एक स्वास्थ्य अभियान की तरह चलाई जा रही है। राजस्थान को एक पूर्ण स्वस्थ प्रदेश बनाने के लिए योजना में 506 सरकारी चिकित्सालय एवं 774 निजी चिकित्सालयों को नामांकित किया गया है। भामाशाह स्वास्थ्य बीमा के रूप में अब तक 1650 करोड़ रुपये की बीमा राशि स्वीकृत की जा चुकी है। अब प्रदेश की जनता को इलाज़ के लिए किसी पर आश्रित रहने की जरुरत नहीं और ना ही इलाज़ के आभाव में पीड़ा सहने की जरुरत है।

योजना का भविष्य : –

भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना की सफ़लता को देखते हुए राज्य सरकार आगे भी इसमें बढ़ोतरी करने की योजना बना रही है। आने वाले समय में इसमें और कई बेहद गंभीर बिमारियों को शामिल कर सकती है। जिससे प्रदेशवासी स्वस्थ रहे और प्रगति पथ पर आगे बढ़ता जायें।

Read more: राजस्थान में महिला सशक्तिकरण का नया अध्याय लिखने वाली योजना है भामाशाह योजना

LEAVE A REPLY